We should study sociology of sanitation: Academics

Posted by & filed under Articles, Delhi, In the Press.

New Delhi: In a bid to better understand how the division between the sacred and the profane works out among social groups in India, a group of academics has recommended that the " sociology of sanitation" be studied at college and university. The academics said the sociology of sanitation could be a sub-discipline within sociology at undergraduate, postgraduate and… Read more »

दिमागी सफाई के बिना अधूरा है स्वच्छता अभियान: मीरा

Posted by & filed under Articles, Delhi, In the Press.

संपूर्ण स्वच्छता अभियान यानि खुले में शौच प्रथा को समाप्त करने का लक्ष्य तभी पूरा होगा, जब लोग अपने दिमाग की गंदगी को साफ करेंगे। देश में जातिवादी व्यवस्था के तहत एक जाति विशेष को स्वच्छता की जिम्मेदारी सौंप दी गई है। इससे अन्य सभी लोग यह मानकर यहां-वहां गंदगी करते हैं क्योंकि सफाई करने… Read more »

Need to end manual scavenging: Speaker

Posted by & filed under Articles, Delhi, In the Press.

  Describing manual scavenging as despicable, Lok Sabha Speaker Meira Kumar on Monday lamented that caste system and untouchability had given rise to this practice. Inaugurating a two-day national conference of “Sociology of Sanitation: Environmental Sanitation, Public Health and Social Deprivation” here, the Speaker emphasised the need to end this practice. “Unless society cleanses its… Read more »

Manual scavenging must be banned: Meira Kumar

Posted by & filed under Articles, Delhi, In the Press.

Jairam Ramesh bats for Bill pending in Parliament Describing manual scavenging as despicable, Lok Sabha Speaker Meira Kumar said caste system and untouchability have given rise to such a practice in the county.  Addressing a 2-day national workshop on Sociology of Sanitation – Environmental Sanitation, Public Health and Social Deprivations on Wednesday, Meira Kumar said… Read more »

संसद सुचारु रुप से काम करे,अन्यथा सड़कों पर क्रांति होगी

Posted by & filed under Articles, Delhi, In the Press.

नई दिल्ली !    लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने आज कहा कि संसद यदि अपनी जिम्मेदारियां उचित तरीके से नहीं निभाएगी तो सड़कों पर क्रांतियां होगी जिनके रक्तरंजित होने की भी आशंका है। श्रीमती मीरा कुमार ने सुलभ अंतरराष्ट्रीय सामाजिक सेवा संगठन द्वारा यहां, स्वच्छता का समाजशास्त्र विषय, पर आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन के उद्धाटन… Read more »

जाति प्रथा मिटे बिना मैला ढोने की व्यवस्था खत्म होना मुश्किल: मीरा

Posted by & filed under Articles, Delhi, In the Press.

नई दिल्ली. लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने कहा है कि जब तक लोग जाति प्रथा की कुरीति से नाता नहीं तोड़ेंगे तब तक सिर पर मैला ढोने की प्रथा से मुक्ति मुश्किल है। उन्होंने कहा, छूआछात और जातिप्रथा की वजह से ही यह व्यवस्था कायम है। सुलभ इंटरनेशनल की ओर से आयोजित दो दिवसीय सेमिनार ‘स्वच्छता… Read more »

‘लोग पहले अपने दिमाग की गंदगी साफ करें ‘

Posted by & filed under Articles, Delhi, In the Press.

खुले में शौच प्रथा को समाप्त करने का लक्ष्य तभी पूरा हो सकता है, जब लोग अपने दिमाग की गंदगी को साफ करेंगे। देश में जातिवादी व्यवस्था के तहत एक जाति विशेष को स्वच्छता की जिम्मेदारी सौंप दी गई है। इससे अन्य सभी लोग यह मानकर यहां-वहां गंदगी करते हैं क्योंकि सफाई करने वाले एक… Read more »

अध्ययन में शामिल किया जाए ‘स्वच्छता का समाजशास्त्र’

Posted by & filed under Articles, Delhi, In the Press.

जासं, नई दिल्ली : सुलभ इंटरनेशनल सेंटर फॉर एक्शन सोशियोलॉजी द्वारा सोमवार को 'स्वच्छता का समाजशास्त्र' विषय पर सम्मेलन का आयोजन किया गया। रफी मार्ग स्थित मावलंकर सभागार में आयोजित सम्मेलन का उद्घाटन लोकसभा की अध्यक्ष मीरा कुमार ने किया। उन्होंने सम्मेलन के विषय की सराहना करते हुए कहा कि समाज को इस पर गंभीरता… Read more »