Posted by & filed under Articles, In the Press, Madhya Pradesh, Photos.

जब तक घर पर शौचालय नहीं बना तब तक घर नहीं लौटी बहु, सुलभ इंटरनेशनल ने किया महिला को सम्मानित

कैसे लौटी घर

मध्य प्रदेश के देवास जिले में शौचालय ना होने के कारण ससुराल छोड़ने वाली दलित महिला को गैर सरकारी संगठन सुलभ इंटरनेशनल दो लाख रुपये देकर सम्मानित करेगी. हालांकि गत शुक्रवार को घर में शौचालय का निर्माण हो जाने पर महिला ससुराल लौट आई थी.

पति को अदालत का आदेश

मुंडलाआना गांव निवासी महिला सविता ने भरण-पोषण मामले को लेकर अदालत में एक याचिका दायर की थी. सुनवाई के दौरान घर में शौचालय ना होने की बात प्रमुख समस्या के रूप में सामने आई. इस पर अदालत ने महिला के पति देवकरण मालवीय को शौचालय बनवाने का आदेश दिया.

गांव की महिलाएं बनती प्रेरणा

सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक डॉ बिंदेश्वर पाठक का कहना है कि ग्रामीण महिलाओं में साफ-सफाई को लेकर जागरूकता आई है. सविता का उदाहरण सबके सामने है. ग्रामीण महिलाओं की प्रेरणास्त्रोत बनने के कारण सविता को जल्द ही सम्मानित किया जाएगा. गौरतलब है कि सविता के ससुराल में शौचालय का निर्माण भी सुलभ ने ही करवाया था.

Source : http://inextlive.jagran.com/sulabh-international-rewards-lady-with-2-lakhs-for-revolting-over-toilet-201401130067