Posted by & filed under Articles, Delhi, In the Press, India, Photos, Sulabh News.

भाषा | Oct 15, 2016, 10:04PM IST

widos

नई दिल्ली
आमतौर पर मॉडल और ऐक्ट्रेस के लिए ही फैशन शो का आयोजन किया जाता है। लेकिन शनिवार को दिल्ली में विधवाओं के लिए फैशन शो का आयोजन किया गया जिसमें विधवाओं ने कैटवॉक किया। समाज में विधवाओं से सारे सांसारिक सुखों को छोड़ने और साज-शृंगार से दूर रहने की अपेक्षा की जाती है लेकिन दिल्ली में विधवाओं ने समाज की परंपरा को तोड़ते हुए शृंगार कर मॉडलों की तरह रैंपवॉक किया। इनमें से कुछ विधवाएं काफी वृद्ध थीं जिन्होंने छड़ी लेकर रैंपवॉक किया।

सुलभ इंटरनैशनल संस्था की ओर से वृंदावन, वाराणसी और उत्तराखंड के केदारनाथ की विधवाओं के लिए फैशन शो का आयोजन किया गया था। इस आयोजन में करीब 400 विधवाओं ने हिस्सा लिया। विधवाओं ने बकायदा लहंगा-चोली पहनकर रैंपवॉक किया। इनमें से एक 90 साल की विधवा ने छड़ी लेकर कैटवॉक किया। विधवाओं ने उस परंपरा को तोड़ने की कोशिश की जिसके तहत समाज उन्हें कई सारे बंधनों और परंपराओं में बांध देता।

फैशन शो के लिए मेक-अप करती आर्टिस्ट
उत्तराखंड में आई विनाशक बाढ़ के बाद केदारनाथ के पास गांव देवली ब्रह्मग्राम में कई सारी महिलाएं विधवा हो गई थीं। मथुरा के वृंदावन में कई सारी विधवाएं रहती हैं। 33 साल की विधवा उर्मिला तिवारी ने कहा, ‘मैंने आज जो कपड़े पहने हैं वैसे कपड़े मैंने अपनी शादी पर भी नहीं पहने।’ वृंदावन से आईं तिवारी ने इस फैशन शो महत्व को समझाया। उन्होंने कहा कि विधवाओं से अक्सर कहा जाता है कि वे ये कर सकती हैं या ये नहीं कर सकती। इस कार्यक्रम का आयोजन ऐसी परंपराओं और सोच को तोड़ता है। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि हमें नया जीवन दिया गया है।

Source : http://m.navbharattimes.indiatimes.com/metro/delhi/other-news/breaking-norms-widows-sashay-ramp-at-fashion-show/articleshow/54871577.cms