Posted by & filed under Articles, Bihar, In the Press, Photos.

बिहटा/पटना. सरकार की विकास योजना पंचायत से नहीं बनेगी तो देश का विकास संभव नहीं है। ये बातें शुक्रवार को बिहटा प्रखंड के सदिसोपुर में पार्वती के घर में बनी आधुनिक शौचालय व स्नान घर का निरीक्षण करने के दौरान सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक डॉ बिंदेश्वरी पाठक ने कही। उन्होंने कहा कि खुले में शौच करने की प्रथा को समाप्त करने के लिए सरकारी योजना को बैंक से जोड़कर लोन की सुविधा की व्यवस्था की जानी चाहिए। इससे जनता अपने अनुसार शौचालय का निर्माण करवा सकेंगे। 

पटना में होटल रिपब्लिक में एक समारोह में पार्वती के पति अलख निरंजन को पक्का मकान निर्माण के लिए तीन लाख रुपए और पार्वती को पुरस्कार के रूप में एक लाख और घर के सामान खरीदने के लिए पचास हजार रुपए दिए जाएंगे।
पार्वती के ससुराल सदिसोपुर में शौचालय नहीं होने के कारण उसने ससुराल छोड़ दिया था। पांच साल तक इंतजार करने के बाद भी पति ने शौचालय नहीं बनवाया था। इस दौरान पति ने प्रताडि़त भी किया। इसके बाद पार्वती ने तलाक लेने का फैसला किया था। सूचना के बाद संस्था ने पार्वती द्वारा उठाए गए कदम को सराहनीय बताते हुए करीब 70 हजार रुपए की लागत से आधुनिक शौचालय का निर्माण करवाया। 
 
 
सदिसोपुर निवासी मोहन महतो के बेटे अलख निरंजन की शादी पांच वर्ष पहले पटना के अदालत गंज निवासी ललन प्रसाद की बेटी पार्वती से हुई थी। लेकिन घर में शौचालय नहीं रहने के कारण वह पति से शौचालय बनवाने की बात कह वापस अपने मायके में आ कर रहने लगी थी।
 
 
 
 

पटना में होटल रिपब्लिक में एक समारोह में पार्वती के पति अलख निरंजन को पक्का मकान निर्माण के लिए तीन लाख रुपए और पार्वती को पुरस्कार के रूप में एक लाख और घर के सामान खरीदने के लिए पचास हजार रुपए दिए जाएंगे। सुलभ इंटरनेशनल सोशल सर्विस ऑर्गेनाइजेशन उसे सुलभ स्वच्छता सम्मान देगा। डॉ. पाठक ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के मकान में शौचालय, अनाज व जलावन रखने की समुचित व्यवस्था जरूरी है।

 

 

Source : http://www.bhaskar.com/article-hf/BIH-PAT-bihar-news-victory-adamant-toilet-parvathi-sulabh-international-4631538-NOR.html