Posted by & filed under Articles, In the Press, India, Press Releases, Sulabh News, Uttar Pradesh.

Hindustan Hindi News

हिन्दुस्तान टीम, मथुरा

17 अक्तूबर, 2017

वृंदावन के राधागोपीनाथ मंदिर में सुलभ संस्था ने शादी समारोह का आयोजन किया। केदारनाथ में जून 2013 में आई प्राकृतिक आपदा में पति को खो चुकी एक युवती का विवाह उत्तराखंड के ही एक युवक से कराया। इसमें वृंदावन की विधवा माताएं शामिल हुईं।

सोमवार शाम ठा. राधागोपीनाथ मंदिर में विधिविधान से उत्तराखंड के दिवली भनीग्राम सभा के सिरवाणी गांव की रहने वाली विनीता देवी (34 वर्ष) की शादी रुद्रप्रयाग के तिलवाड़ा गांव निवासी राकेश से की गई। इस दौरान विनीता और राकेश की जीवन पर आधारित सुलभ द्वारा उत्तराखंड के दो फूल पुस्तक का विमोचन सुलभ संस्था के अध्यक्ष विंदेश्वरी पाठक और व राकेश द्वारा किया गया। संस्था के अध्यक्ष विंधेश्वर पाठक ने बताया विनीता और राकेश ने 26 अगस्त 2014 को कोर्ट मैरिज कर ली थी। इसके बाद वहां के कुमरा नारायण मंदिर में दोनों परिवारों की उपस्थिति में शादी हुई। सामाजिक प्रतिष्ठा को वृंदावन में विधिविधान पूर्वक शादी कराई गई।

बाहर से आए आचार्य

विवाह संस्कार कराने के लिए दिल्ली, बनारस, बिहार, असम, उत्तराखण्ड से ग्यारह पंडित आए। आचार्य संतोष द्विवेदी, ब्रजेश मिश्र, विद्यासागर, उमेश द्विवेदी,ईश्वर दहाल, देवी नौडि़याल, महेश नोटियाल, मोहन शास्त्री, विकास शास्त्री, जयप्रकाश शास्त्री, प्रदीप शास्त्री ने मंत्रोच्चारों के मध्य विवाह संस्कार कराया। वर और कन्या पक्ष से उनके परिजन इस विवाह समारोह में शामिल हुए।

Source : http://www.livehindustan.com/uttar-pradesh/mathura/story-widowed-woman-married-in-vrindavan-1600828.html